मन्त्र

गायत्री मंत्र – Gayatri Mantra:गायत्री मंत्र को प्राण ऊर्जा मंत्र भी कहा जाता है | गायत्री मंत्र में त्रिदेव यानी की ब्रह्मा विष्णु और महेश का वास माना गया है |भगवान् श्री कृष्ण ने स्वम कहा है की गायत्री मंत्र में उनका वास है | गायत्री मंत्र के जाप से धन , सुख समृद्धि , आरोग्यता , आकर्षण की प्राप्ति होती है | गायत्री मंत्र का हिंदी में अर्थ है की हम उस पमात्मा का ध्यान करते है जिसने इस जगत को बनाया है | जो हमारा ईस्ट है , हमारे पापो का नाश करने वाला है | जो हमें ज्ञान देता है | और वह परमेश्वर हमें सत्य के मार्ग पर ले जाता है | गायत्री मंत्र को सुबह ब्रह्म मुहूर्त में १०८ बार जाप करने से मनोकामना की पूर्ति होती है शत्रु नाश होते है | घर में मांगलिक कार्य संपन्न होते है | बाधाये समाप्त होती है | ग्रहदोष समाप्त हो जाता है | वास्तु दोष कम होता है | गायत्री मंत्र का जाप करने वाले साधक को मांस या मदिरा का प्रयोग नहीं करना चाहिए |

ॐ भूर्भुवः स्वः वित्वर्रेयम भर्गो देवस्य धीमहि धियो योनः प्रचोद्यात |

ॐ महालक्ष्मे च विदमहे विष्णु पत्नी च धीमहि तन्नो लक्ष्मी प्रचोद्यात  |

नारायणाय च विदमहे विष्णु च धीमहि तन्नो विष्णु प्रचोद्यात |

वशीकरण मंत्र शब्द का सीधा सा मतलब है की किसी भी मनचाही स्त्री या पुरुष को अपने वश में करके मनमाफिक कार्य करवाना | वशीकरण मंत्र कोई मानव की कोरी कल्पना नहीं है | बिभिन्न देशो के ग्रंथो में भी वशीकरण मंत्र के विषय में जानकारी प्राप्त होती है | वशीकरण मंत्र तंत्र शास्त्रों में प्रमुख माना गया है | आकर्षण तथा मोहन इसके सहयोगी माने गए है | आकर्षण के माध्यम से किसी भी स्त्री या पुरुष को मोहित किया जाता है | पर वशीकरण मंत्र इसमें सबसे सर्वोत्तम माना गया है | आकर्षण और मोहन से जब कार्य ना बने तो वशीकरण मंत्र  का प्रयोग किया जाता है | वशीकरण मंत्र के प्रयोग से स्त्री या पुरुष पूरी तरह से साधक के वश में हो जाता है | वह अपना अच्छा या बुरा नहीं विचार कर पाता है | वह केवल साधक के वश में होकर उसकी इच्छा के अनुसार कार्य करने लगता है |

वशीकरण मंत्र  के प्रयोग से देवी देवता आदि भी वश में हो सकते है \ प्रत्येक व्यक्ति का जीवन उसकी मनोकामना से भरा हुआ होता है | प्रत्येक स्त्री या पुरुष की केवल यही इच्छा होती है की की उसके सोचे हुए कार्य सरलता से हो जाए | लेकिन जीवन में कदम कदम पर बाधाओं का सामना करना पड़ता है | इन बाधाओं को ही दूर करने के लिए सरन साधनाओ के माद्ज्यम से ही स्त्री या पुरुष सच्चा सुख और आनंद प्राप्त कर सकता है | इसी तंत्र , मंत्र और यन्त्र के माध्यम से वशीकरण मंत्र  का सफल प्रयोग किया जाता है | वशीकरण मंत्र अपने आप में अकेला नहीं है | इसके साथ सम्मोहन और मोहिनी विद्या तथा आकर्षण भी आते है |

मंत्र अथवा तंत्र के माध्यान से बहुत ही सरलता से किसी भी स्त्री या पुरुष का वशीकरण किया जा सकता है | यदि वशीकरण की साधना श्रधा और विश्वास के साथ किया जाय तो सफलता अवश्य ही मिलती है | नियम के अनुसार की गई साधना लाभदायक रहती है | जबकि नियमो के उलटा साधना करने से प्रतिकूल परिणाम प्राप्त होते है | इसलिए वशीकरण की साधना किसी अच्छे गुरु के सानिध्य में ही करना चाहिए |

आज के इस लेख में हम आपको कुछ सरन किन्तु अत्यंत ही प्रभावशाली वशीकरण मंत्रो की जानकारी देंगे | इन मंत्रो को यदि बताये गए नियमो के अनुसार किया जाय तो सफलता सौ प्रतिशत निश्चित है |

कर्ज मुक्ति मंत्र :

त्वया हाव्या वामं वापुर परित्रिप्तें मनसा |

शरोरार्ध राम्भोर परमपि शंके ह्यात्म भूत |

यादे तत्व सकल्मारू नभं त्रिनयनं |

क्रिपभ्या मनम्रम कुटिलं शशि पुथल मुकुटम ||

कामदेव मंत्र :

मद मद मद मादय खिल हरिम ( अमुक ) नाम्नी अमुक स्वरूपा स्वाहा ||

बिमारी दूर करने का मंत्र :

नासी रोग हरे सब पीरा | जपत निरंतर हनुमत बीरा

भाग्य को जगाने का मंत्र :

बुद्धि हीन तनु जानिके सुमिरो पवन कुमार |

बल बुद्धि विद्या देहि मोहि हरहु कलेश विकार ||

विद्या प्राप्ति मंत्र :

गुरु गृह गए पधान रघुराई |

अल्प काल विद्या सब पाई ||

पढाई में मन लगने का मंत्र :

ॐ हरिम श्रीम कलीम वग्य्वादिनी सरस्वती मम जिहाग्रे वासं कुरु कुरु स्वाहा ||

इस मंत्र को प्रातः काल २९ बार जाप करने से बुद्धि तथा विद्द्या प्राप्त होती है |

दरिद्रता नाशक मंत्र :

ॐ कमल निवासिनी सदा सुहासिनी माँ चंचले |

स्थ्राम स्थिराम हरीम हरिम ॐ नमः कमाछय हरिम क्रीम श्रीम फट स्वाहा ||

धन प्राप्ति मंत्र :

ॐ ह्रां ह्रीं हां ह्रो हः अं सिं आं ऊँ सं नमः इच्चितम में कुरु कुरु स्वाहा ||

लक्ष्मी कृपा से विशेष धन प्राप्ति मंत्र :

ॐ हरिम नमः मम गृहे धनं कुरु कुरु स्वाहा ||

धन सम्पन्नता प्राप्ति मंत्र :

ॐ महा लक्ष्मी च विद्महे विष्णु पाटने च धीमहि तन्नो लक्ष्मी प्रचोदयात ||

विवाह में आ रही बाधा को दूर करने का मंत्र :

पत्नी मनोरमाम देवी मनोवृत्तानुसारिनिम |

तारिणीम दुर्ग्संसर सागरस्य कुलोद्भवान ||

लौंग वशीकरण मंत्र :

मंत्र : ॐ जल की योगिनी पली कालका नाम ||

जिसपे भेजू तिस्पे लागे ||

सोते सुख ना बैठे सुख ||

मेरी बाँधी जो छुठे तो बाबा नरसिंह की जता छुठे ||

विधि : सोमवार के दिन पान के पत्ते में चार लौंग मुख में रख कर किसी नाहर या नदी में जाकर सर डुबो कर दुबकी लगावे , और एक ही डुबकी में इस मंत्र  को ११ बार जाप करे | , फिर पानी में खड़े होकर अपने मुख से लौंग को निकालकर धुप इत्यादि दिल्हाकर जिस भी किसी मनचाही स्त्री या मनचाहे पुरुष को खिला देंगे वह स्त्री जीवन भर के लिए आपकी दासी बन जायेगी ||

नमक मोहन मंत्र :

मंत्र : एक नमक रमता माता ||

दुसरा नमक बिरह से आता |

तीसरा नमक औरी बौरी |

चौथा नमक रहे कर जोरी |

यह नमक  ( अमुक  ) खाए |

अमुक को छोड़ दुसरा नहीं जाए ||

दुहाई पीर औलिया की जो कहे सो सुने ||

दुहाई गौरा पार्वती की , दुहाई कामाख्या देवी की ||

दुहाई गुरु गोरख नाथ की ||

विधि : चुकी भर नमक को लेकर इस मंत्र से एक्क्यावन बार सिध्ध करके फिर जिस भी स्त्री या पुरुष को वश में करना हो उसके किसी भी खाने या पिने में मिलाकर दे दे || वह स्त्री या पुरुष जीवन भर के लिए आपके वश में रहेगा ||

स्त्री आकर्षण मंत्र :

मंत्र : ॐ नमो देव प्रदिरुपय ( अमुकस्य ) आकर्षण कुरु कुरु स्वाहा ||

विधि : किसी भी शनिवार को भोजपत्र लेकर इस मंत्र को उस ११०० बार जापकर सिद्ध करके लाल स्याही से भोजपत्र पर लिख ले | जिस भी मनचाही स्त्री, पुरुष या लड़की को वश में करना हो अमुक के नाम की जगह पर उसका लिख ले | फिर भोज पत्र को शुद्ध शहद की शीशी में डुबो कर कही संभाल कर रख दे | सात दिनों के अंदर ही आपकी मनोकामना अवश्य पूरी होगी |

सुपारी वशीकरण मंत्र :

मंत्र : खरी सुपारी ताम नगरी राजा प्रजा खरी पियारी |

मंत्र पढ़ लगाऊ तो रही या कलेजा लावे तोड़ा ||

जिवर चाते पराथाली भुवेम्शान या शब्द ||

किमारी ना लावे तो यति हनुमंत की आज्ञा ||

ना माने लुना दलित के कुंद में गले ||

शब्द साँचा पिंड कांचा ||

फुरो मंत्र इश्वरो बांचा ||

विधि : किसी भी शुक्ल पच्छ के शनिवार से इस मंत्र का प्रयोग प्रतिदिन वा सुपारी लेकर २१ दिनों तक रिजाना १२१ बार जाप करे | फिर इनको पीस कर जिस भी मनचाही स्त्री , कन्या , पुरुष , लड़के को खिला देंगे वह जीवन भर के लिए आप का होकर रह जाएगा ||

पति वशीकरण सिद्ध मंत्र :

मंत्र : पम राज्मुखी वश्यनुखी स्वाहा ||

विधि : इस मंत्र का प्रतिदिन सुबह के समय १११ बार जाप करने से स्त्री का पति सदा वश में रहता है ||

पति वशीकरण मंत्र :

मंत्र : ॐ अभित्वा मनुजातेंन दयामी मम वाससा |

यथा सो मम केवलो नान्यासाम किर्तियाश्च ||

विधि : जब भी किसी स्त्री का पति उसे ना चाहता हो अथवा उस स्त्री के पति का किसी अन्य स्त्री से अवैध सम्बन्ध हो तो वह स्त्री इस मंत्र का ५१ बार ३१ दिनों तक जाप कर वह स्त्री अपने पति के पसंद का कपड़ा पहन कर उस कपडे पर इस मंत्र का ५१ बार जाप कर फूंक मार कर पति के सामने जाए तो उस कपडे पर नज़र पड़ते ही पति जीवन भर के लिए पत्नी के वश में हो जाएगा ||

वशीकरण मंत्र :

मंत्र : ॐ हाँ ग जूं सह ( अमुकस्य )

में वश्य वश्य स्वाहा ||

विधि : आप जिस भी स्त्री या पुरुष को वश में करना  चाहते हो उसकी एक कलर फोटो लेकर रात्रि के मध्य में किसी एकांत कमरे में बैठकर इस मंत्र का २०१ बार जाप करना चाहिए | मंत्र में अमुकश्य की जगह  दिल में बसी स्त्री या पुरुष का नाम जपना चाहिए |

स्त्री वशीकरण मंत्र :

मंत्र : ॐ नमो अरिहंतारम |

अरे आरिनी मोहिनी ||

( अमुकं ) मोहे मोहे स्वाहा ||

विधि : किसी शुभ मुहूर्त में इस मंत्र को सवा लाख बार जाप कर सिद्ध करने के  बाद हाथ में एक फूल लेकर इस मंत्र को ५१ बार जाप करके किसी भी स्त्री या स्वाम की पत्नी के ऊपर डाल देंगे | तो वह स्त्री जीवाम पर्यंत आपकी दासी बन जायेगी | मंत्र में अमुक के स्थान पर पत्नी का नाम लेना चाहिए |

सर्वजन वशीकरण मंत्र  :

मंत्र : ॐ नमो आदेस गुरु को |

राजा मोहू प्रजा मोहू |

ब्राह्मण बनिया हनुमंत रूप में |

जगत मोहू तो रामचन्द्र रूप में |

फर्मन्या गुरु की शक्ति |

मेरी भक्ति फुरो मंत्र इश्वरो बाचा |

विधि : इस मंत्र को किसी भी शुभ मुहूर्त में ३१ दिन तक प्रतिदिन एक माला जाप कर सिद्ध कर ले | फिर किसी चौराहे की धुल लेकर उसे भी ३१ बार इस मंत्र से अभिमंत्रित करके माथे पर तिलक लगाकर जिस भी स्त्री या पुरुष के सामने जायेंगे वह आपके वश में हो जाएगा |

Mantra , Vashikaran mantra , Vashikaran

Black Magic Specialist

Problems in Relationships

Money Market

Mantra To Destroy Enemy Completely

Husband Vashikaran Mantra

Vashikaran Upay

How To Win The Euromillions

Spell Caster

Vashikaran Kavach

Laxmi Mantra For Money

Maran Mantra

Genie

Vashikaran in Hindi

Ucchatan Mantra

Vashikaran Specialist Free Of Cost

Vashikaran Specialist Molvi Ji

Stri Vashikaran Mantra

Vashikaran Specialist In Gurgaon

Vashikaran Tilak

Vashikaran Totke

Love Spells

Vashikaran Specialist

What Is Vashikaran

Love Vashikaran Specialist Astrologer

Vashikaran Specialist In Noida

Holi ke Totke

Shivratri

Holika Dahan

MahaVashikaran Yantra

Vashikaran Guru

Vashikaran Ke Tantrik Totke

Vashikaran Mantra

How To Get Your Ex Boyfriend Back

Love Problem Solution

Mobile

Hanuman Chalisa

Holi

Astrology

Astrologer

Love Marriage Specialist

Famous Vashikaran Specialist

Fast Vashikaran Specialist

Vashikaran Specialist in Chandigarh

Vashikaran Specialist in Chennai

Vashikaran Specialist in Delhi

Vashikaran Specialist in Hyderabad

Vashikaran Specialist in India

Vashikaran Specialist in Kolkata

Vashikaran Specialist in Mumbai

Vashikaran Specialist in Pune

vashikaran specialist in Punjab

Vashikaran Specialist in UK

World Famous Vashikaran Specialist

Music Download

Irctc E Rail

Train

G S T

Electric Car

Rashifal 2019

Spa Massage

Massage Centre

Huband Wife Problem Solution Baba ji

Signs of Negative Energy in House

Sarkari Result

Govt Jobs

Love Spell Caster

Free Online Astrology Consultation

Astronomy Definition

Vashikaran

Happy New Year Message

Holi Festival

Navratri 2019

Akshaya Tritiya 2019

Election

Bank Loan

Job Search

Free Civil Score

Gayatri Mantra

Lal Kitab Ke Totke

Horoscopes

Om Namah Shivay

Hypnotism In Hindi

Match kundli

Cafe Astrology

Dictionary

Planet

Naukri

How To Make Money

Gora Hone Ka Upay

Panchang

SriYantra

Tantric Yoga

Pitra Dosh

What Is Kaal Sarp Dosh

Brahmin

Vashikaran Specialist

Laughing Buddha

Vastu Tips

Gemstone

Rudraksh

sun facts

Chandra( Chandra ) Grah

Mars

Shani

Shani Planet

Jupiter Moons

Ketu graham

Rahu grah

Mercury planet

Venus planet

Ganesh Bhagwan Ki Aarti

Durga Aarti

Durga Chalisa In English

Shiv Aarti

Durga Maa

Durga mata

Shiv

Shani Dev

Hanuman

Festival